Friday, 11 November 2016

जब पुजारा को मिला ‘जीवनदान’, खुशी से उछल पड़ी पत्नी पूजा

यहां सौराष्ट्र क्रिकेट संघ स्टेडियम में भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच में DRS का इस्तेमाल हो रहा है। इस तरह भारत में DRS का टेस्ट डेब्यू हुआ है। लंबे समय तक इसके विरोध में रहे भारत को राजकोट टेस्ट में इसका फायदा मिला है। अगर यह सिस्टम नहीं रहा होता तो भारत की तरफ से चेतेश्वर पुजारा शतक न लगा पाते।

दरअसल हुआ ये कि 71वें ओवर में इंग्लैंड के गेंदबाज जफर अंसारी की एक गेंद पर अंपायर किर्स गैफनी ने पुजारा को आउट करार दे दिया। अंसारी की गेंद पुजारा के पैर पर लगी थी और उन्होंने एलबीडब्यू की अपील की थी। उस समय पुजारा 86 रन पर खेल रहे थे। पुजारा ने इस फैसले को चुनौती दिया और थर्ड अंपायर ने पुजारा को नॉट आउट करार दिया।
दरअसल गेंद में उछाल ज्यादा थी इसलिए पुजारा को जीवनदान मिल गया। जिस समय थर्ड अंपायर ने पुजारा को नॉट आउट करार दिया, उस समय उनकी पत्नी की खुशी देखने लायक थी। स्टेडियम में मैच देख रही पुजारा की पत्नी खुशी के मारे उछल पड़ी। पुजारा ने भी जीवनदान का भरपूर फायदा उठाया और अपना नौवां टेस्ट शतक पुरा किया। इंग्लैंड के खिलाफ उनका यह तीसरा शतक है। खास बात ये है कि राजकोट उनका घरेलू मैदान भी है और यहां उन्होंने पहली बार शतक जड़ा। पुजारा 124 रन बनाकर बेन स्टोक्स का शिकार बने।

No comments:

Post a Comment

author
Himanshu Shrivastava
A Certified Digital Marketer (By Google). and well Experianced Blogger Since 2010 .
author
Santosh Shrivastava
A Certified Digital Marketer (By Google) , well Experianced Blogger Since 2012 . and a Certified Security Expert .